प्रेग्नेंट होने के आसान, उचित समय और सही तरीका | Best Pregnancy Tips | गर्भधारण कैसे करे?




आज के समय में सबसे बड़ा सवाल है गर्भधारण कैसे करे ? यह एक ऐसा सवाल जो है जो की सबसे ज्यादा युवा दम्पतियो को काफी परेशान कर रहा है, ये चीज़ मेरे अध्यन के अनुसार ” How to “ keyword से संबधित google search में ” How to get pregnant या  How can I get pregnant ?“  में है| भारत में ऐसे खोजे जाने वाली सवाल है। इससे साफ पता चलता है की हम भले ही कितने आधुनिक हो गए है लेकिन आज भी कई लोगो को सामने ये गर्भ ठहरने की समस्या और इसके सही तरीका क्या है इसके बारे में उचित और पूरी जानकारी नहीं होती है|

Best Pregnancy Tips

शादी के बाद किसी भी महिला के जीवन में गर्भधारण करने और माँ बनने का सबसे खूबसूरत पल होता है लेकिन कभी-2 किसी महिला में कुछ कारणों से प्रेगनेंसी में देरी हो जाती है। ऐसे में उनके मन में कई सवाल आते है जैसे की बच्चा पैदा करने का सही समय क्या है, गर्भधारण धारण करने के लिए कब सम्बन्ध बनाये, महिला पीरियड के कितने दिन बाद प्रेग्नेंट होती है, गर्भ ठहरने के लिए क्या करें? गर्भ न ठहरने का कारण शारीरिक व मानसिक समश्या कोई भी हो सकता है। कुछ लोग ऐसे भी होते है जिन्हें बिवाहिक जीवन में प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करना चाहिए इसकी भी जानकारी नहीं होती है। कुछ महिलायें जल्द गर्भ धारण करने के लिए बहुत तरीके में दुआ, टोटके, टेबलेट और दवा का सहारा लेती है लेकिन प्रेग्नेंट होने का सही तरीका, सही टाइम, दिन, शुरुआती लक्षण, सावधानी जैसी जानकारी नहीं होती है और वैसे लोग कुछ ये लेख पढ़कर से आसानी से जान सकते है की गर्वधारण कैसे होती है।

यदि कोई महिला गर्भवती होने की सोच रही है तो वे गर्भ गिराने या रोकने वाली दवा के सेवन न करे। आधुनिक जीवनशैली में पुरुष और महिला की प्रजनन शक्ति का स्तर काफी कम होते जा रहा है ऐसे में महिला या पुरुष किसी की भी बांझपन(infertility) की समस्या हो सकती है ऐसे में डॉक्टर की सलाह से ही फॅमिली प्लानिंग के तरीके से करने चाहिए।




आइये जानते है after periods what is best time and how to get pregnant, बेस्ट प्रेगनेंसी tips in hindi :

1) संबंध कब बनाये :- Ovulation Cycle के दौरान पुरुष और महिला के बीच शारीरिक सम्बन्ध स्थापित होना चाहिए जिससे की गर्भ ठहरने की प्रक्रिया शुरू हो सके और सम्भावना बढ़ सके। ओवुलेशन साइकिल एक ऐसी प्रक्रिया है जिस समय महिलाओं के Ovary (अंडाशय ) से egg (अंडे) बनाकर निकलते हैं।   Menstruation cycle(MC) के बाद Ovulation cycle होता है, जो कि MC के बारहवे या चौदहवें दिन से लेकर सोलहवे या अठारवे दिन तक चलता है| MC के जब bleeding start होता है तब शुरू होता है। जैसे की आपके मासिक-धर्म की शुरुआत 30 तारीख को हो तो 14 से 18 तारिख का समय Ovulation का समय हो सकता है।

2) संबंध कैसे बनाये :– शारीरिक संबंध बनाते समय पुरुष और महिला कि शारीरिक अवस्था ऐसी होनी चाहिए जिससे पुरुष को महिला साथी के ऊपर रहना चाहिए और संबंध के बाद औरत को अपनी पीठ के बल 15 मिनट तक लेटा और निचले भाग को थोड़ा सा ऊपर की तरफ रहना चाहिए जिससे की पुरुष द्वारा छोड़े गए शुक्राणु स्त्री के ओवेरी तक आसानी से पहुँच सके। संबंध बनाने के समय महिला साथी को पूरी तरह उत्तेजित होना जरुरी होता है जिससे उसके uterus(गर्भाशय) का मुँह पूरी तरह खुल सके उसके बाद ही पुरुष शुक्राणु छोड़े जिससे शुक्राणु स्त्री के uterus(गर्भाशय) के मुख के पास इकठ्ठा होगा और आगे की प्रक्रिया हो सकेगी।

3) चिकित्शीय सलाह :- यदि आप बच्चे कि planning करने जा रहे हो तो सबसे पहले चिकित्शीय सलाह ले लेना चाहिए और अपनी शारीरिक जांच करा लेना चाहिए । इससे पता चल जाता है कि आपको किसी तरह कि शारीरिक परेशानी तो नहीं है या कोई  infection वगैरह तो नहीं है। हो सकता है की आपसी संबध में sexually transmitted disease होने की सम्भावना खत्म हो जाती है साथ ही अगर कुछ संभावित डिम्बग्रंथि अल्सर, फाइब्रॉएड, endometriosis, गर्भाशय के स्तर की सूजन जैसे परेशानियों की हो सकती है।

4) स्वस्थ शुक्राणु :- किसी भी महिला को गर्भावस्था को प्राप्त करने के लिए पुरुष के Semen में शुक्राणु की संख्या और उनकी गतिशीलता (Motility) अधिक होना जरुरी होता है| इसलिए बेस्ट Pregnancy Tips की जानकारी जरुरी होता हैं। इसलिए पुरुष को कुछ खास बातो पर ध्यान देना जरुरी है जैसे की स्वस्थ और नशामुक्त जीवनशैली, पौष्टिक आहार का सेवन, मोटापा से बचे, रोज व्यायाम और योग करना चाहिए।

5) अन्य :- ऊपर दिए गए कुछ आवशय्क निर्देशों के साथ-साथ और भी खास टिप्स है जिस बातो पे ध्यान देना आवश्यक होता है जैसे की:-




– किसी भी महिला के गर्भाशय में पुरुष के शुक्राणु 48 से 72 घंटों तक जीवित रह सकते है इसलिए जरुरी है की ओवूलूशन्स के समय एक दिन gaping में पति और पत्नी को प्रेग्नेंट होने के लिए शारीरिक  सम्बन्ध बनाने चाहिए।

– पति और पत्नी के बीच अच्छी समझदारी होनी चाहिए क्यूंकि पति-पत्नी के बीच प्रेम न हो तो भी गर्भ ठहरने में दिक्कत आ सकती है क्योंकि शारीरिक संबंध बनाने के दौरान अनिक्षा गर्भ ठहरने में बाधक बन जाती है ।

– गर्भ रोकने या गर्भ नीरोधक दवाईयों के प्रयोग से बचें. अन्य दवाओं का प्रयोग भी न के बराबर करें. इनके side effects भी हो सकते है जो गर्भधारण करने में समस्या उत्पन कर सकते है ।

-अंडकोष को अधिक तापमान और अधिक गर्म पानी से स्नान और सॉना बाथ से बचाने चाहिए और अधिक टाइट कपडे  जैसे जीन्स न पहने साथ ही लैपटॉप को जननांगो के ऊपर रखकर ज्यादा  समय तक काम न करे इन सभी चीजों से शुक्राणुओ का क्षय होता हैं।

– पुरुष और महिला को सम्बन्ध बनाने के दौरान Lubricants का प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि किसी तरह के लुब्रिकेंट्स में उपयोग होने वाले कुछ पदार्थ गर्भ ठहरने में दिक्कत पैदा कर सकते हैं।

– महिला और पुरुष को तनावमुक्त रहना चाहिए जिससे  गर्भ ठहरने के लिए बहुत जरूरी हैI किसी बी दम्पति का दिमागी तनाव वैवाहिक जीवन का मजा तो किरकिरा कर सकता है, साथ हीं गर्भ धारण करने में भी परेशानी का करक बन सकता है ।

– गर्भधारण के लिए योगासन: गर्भधारण के लिए योगासन बहुत जरूरी है जो आपके शरीर के सेल को एक्टिव और मन को शांत करता है| आप कुछ योगासन करे आपके लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है जैसे की यसतिकाआसन, उष्ट्रासन, सूप्ताा वध्रआसन, Kapalbhati प्राणायाम और पश्चिमोत्तानासन।

Content Source : Health Nukshe