राम नवमी पूजा का महत्व एवम शुभकामनाएं – Ram-Navami-Puja-Ka-Mahtwa-Yevam-Subhkamnaye

आज पुरे प्रदेश में राम नवमी का पर्व हर्स और उल्लास से मनाया जा रहा है| ये पर्व चैत्र मास में सुक्ल पक्ष नवमी तिथि को मनाया जाता है| हिन्दू धार्म शास्त्रो के अनुसार इस दिन श्री राम जी का जन्म हुवा था अतः इस सुभ तिथि को राम भक्त राम नवमी के रूप में मनाते है| शाश्त्रो के अनुसार इस दिन लोग गंगा स्नान कर के पूजा करते है तथा पूर्य का भागीदार बनते है।

Ram-Navami-Wishes

हिन्दू जीवन में राम नवमी पर्व का बहुत महत्व है, इस पर्व के साथ ही माँ दुर्गा की नवरात्र का समापन भी होता है| भगवन श्री राम ने भी देवी दुर्गा की पूजा किये थे और उनके द्वारा की गयी सक्ती पूजा ने उन्हें धर्म युद्ध में विजय प्रदान की| इस प्रकार इन दो महत्वपूर्ण त्यवहारो का एक साथ होना पर्व के महत्व को और भी अधिक बढ़ा देता है| गोश्वामी तुलसीदास जी ने इसी दिन “श्री राम चरित्र मानस” की रचना आरम्भ किये थे||

*सूर्यवंशी रघुनन्दन *??
*मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम* ,नाम लेने
से ही बन जाते जन-जन के बिगड़े काम
नवमी तिथि में प्रकटे ,प्रभु दीनदयाल
जन-जन का करने उद्धार ।
?????? बधाई हो सबको राम नवमी की सब मिल गाओ
राम नाम के शुभ मंगल गान????